बाइनरी ऑप्शंस ट्रेडिंग निवेशकों को मुनाफा कमाने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है और वो भी बहुत ज़्यादा दबाव में आए बिना।

बाइनरी ट्रेडिंग की सफलता ने ही इसे लोकप्रिय बनाया है।

binary optionsफिर भी दो संभावित परिणामों के बीच चुनाव करना सरल लग सकता है , लेकिन आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि इसमें कुछ जोखिम भी शामिल है।

अगर आप नए ट्रेडर हैं जो अपने ट्रेडिंग प्रयासों को जमाने की कोशिश कर रहे हैं, तो हम आपकी सहायता करेंगे और आपको प्रो ट्रेडर बनाने के लिए कुछ सलाहें देंगे!

अपना ब्रोकर ढूंढें

हमें सबसे सामान्य चीज से शुरुआत करनी चाहिए – ब्रोकर ढूँढने से। जितना ये आसान दिखता है, एक उपयुक्त ब्रोकर चुनना उतना ही कठिन है।

यहाँ हजारों अलग-अलग ब्रोकर है जो अपनी सेवाएँ निवेशकों को देते हैं और यद्यपि वे सभी लगभग एक से ही सिद्धांतों पर काम करते हैं कुछ चीजें है जो अलग होती है और आपको वे देखनी चाहिए।

सबसे पहले, आपको स्पष्ट रूप से पता हो कि आपका लक्ष्य क्या है, आप क्या पाना चाहते हैं और अपने कितना पैसा जमा करना चाहते हैं।

READ  अपनी पहली Olymp trade लगाएँ

इन चीजों को ध्यान में रखकर आप बाइनरी ऑप्शन ब्रोकरों की समीक्षाएं पढ़ सकते हैं ताकि आप पता लगा सकें कि इनमें से आपके लिए कौन सा ब्रोकर सर्वोत्तम है। यह ज़रूर पढ़ें कि अन्य उपयोगकर्ता क्या कहते हैं और यह सुनिश्चित कर ले कि आप कोई धोखेबाज़ ब्रोकर नहीं चुन रहे।

2. डेमो खाते का लाभ उठाएँ

सभी बाइनरी ब्रोकर तो नहीं पर अधिकतर उपयोगकर्ताओं को डेमो खाता उपलब्ध कराते हैं। अगर आपके पास इस क्षेत्र का कोई अनुभव नहीं है तो इसका मतलब यह कि आपके लिए डेमो खाता बहुत ही फायदेमंद रहेगा।

binary options tradingआप जांच-पड़ताल कर सकते हैं और पता लगा सकते हैं कि ट्रेडिंग प्लैटफॉर्म क्या ऑफर कर रहा है, ट्रेड लगा के देख सकते हैं और आस्तियों पर कुछ अनुमान लगा सकते हाँ और देख सकते हैं कि बाज़ार कैसे चलता है

यह नए ट्रेडरों के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे वे आवश्यक आत्मविश्वास प्राप्त कर लेते हैं वो भी धन का जोखिम लिए।

3. अपना होमवर्क करें

अभ्यास करने से पहले आपको इसके सिद्धांतों की कुछ जानकारी होनी चाहिए।

हमारी वैबसाइट पर और इन्टरनेट पर भी कई सारे उपयोगी ट्यूटोरियल और गाइडें  उपलब्ध हैं जो आपको बाइनरी ट्रेडिंग की आधारभूत बातें बताएगी और आपको वास्तविक ट्रेडिंग के लिए तैयार करेंगी।

4. यथार्थवादी लक्ष्य और सीमाएं तय करें

ज़रूर ही आप एक क्लिक में अपने पैसे दोगुने करना चाहते होंगे लेकिन आप हमेशा ऐसा नहीं कर सकते। भले ही किस्मत आपकी ओर हो, आपको सावधानी से योजनाएँ बनानी चाहिए और उन्हें अमल में लाना चाहिए।

यथार्थवादी लक्ष्य बनाना आपके लिए बहुत ज़रूरी है। आप सब कुछ दांव पर लगाकर बड़ा जुआ नहीं खेलना चाहेंगे। क्योंकि इसमें जोखिम है, आपको बड़ी सावधानी रखनी चाहिए कि आप कितने पैसे जमा कर रहे हैं। पैसे जमा करते समय सावधान रहें और कभी भी इतना पैसा न लगाएँ जिन्हें हारना आप बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।

READ  IQ Option FX Options – जानने योग्य समस्त जानकारी
5. वही चुनें जो आपको सर्वाधिक सुविधाजनक लगता है

बाइनरी ऑप्शंस ब्रोकर निवेशकों को ट्रेड करने के लिए अलग-अलग आस्तियां ऑफर करते हैं।  सबसे आम चार श्रेणियाँ मुद्राएँ, सूचकांक, कमोडिटीज़ और स्टॉक हैं।

नए ट्रेडरों को आम तौर पर मुद्राओं और कमोडिटीज़ के बारे में जानकारी होती है। वास्तव में, अगर आप नए हैं तो मुद्राओं और कमोडिटीज़ से ट्रेडिंग प्रयासों की शुरुआत करना ही सही तरीका है क्योंकि ये आस्तियां अनुमान लगाने में आसान होती हैं।

6. धीरे-धीरे आगे बढ़ें

ऐसी बेवकूफी भरी बात आपके दिमाग में आ सकती है कि आप मैदान में कूद पड़ेंगे और खुद को अनुभवी ट्रेडरों के बराबर पाएंगे। लेकिन, जितना आसान यह दिखता है, बाइनरी ट्रेडिंग उतना ही जोखिमभरा और चुनौतीपूर्ण हो सकता है।

जल्दबाज़ी न करें और अपनी गति खुद चुनें। जैसे जैसे आप यहाँ समय देंगे आप बाज़ार के बारे में और भी अधिक जानते जाएंगे और आप बड़ी राशि वाली और कम प्रत्याशित आस्तियों  में ट्रेड करना शुरू करने के लिए आवश्यक आत्मविश्वास और अनुभव प्राप्त कर लेंगे जिससे आपको अधिक मुनाफ़ा होगा।

7. कुछ प्रयोग करें

आपके पास चुनाव के लिए केवल दो विकल्प हो सकते हैं, लेकिन इसका मतलब है कि आपके जीतने का 50:50 मौका है। अगर आप सीखना चाहते हैं कि यह सब कैसे काम करता है, आप अलग-अलग आस्तियों में छोटी-छोटी राशियों जैसे कुछ डालरों का निवेश करके खुद देख सकते हैं।

ऐसा करके, आप बाज़ार के बारे में और उसमे संभावित बदलावों के बारे में और अधिक सीखेंगे।

बाइनरी ऑप्शंस ट्रेडर होना बहुत ही फायदेमंद हो सकता है, यहाँ तक कि नए ट्रेडरों के लिए भी।

READ  अगर मुनाफ़ा कमाना है तो सीएफ़डी ट्रेडिंग की इन 5 बड़ी गलतियों से बचें

लेकिन अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आपको कहीं से तो शुरुआत करनी पड़ेगी और मजबूत आधार से शुरू करना होगा।

आवश्यक सिद्धान्त सीखें, डेमो खाते में कुछ प्रयोग करें और अपने लिए उपयुक्त ब्रोकर ढूंढे। बाइनरी ऑप्शंस ट्रेडिंग को आप अनुभव के माध्यम से ही सीख सकते हैं  और छोटे से शुरुआत करना सबसे उपयुक्त होगा। हैप्पी ट्रेडिंग!

बाइनरी ऑप्शंस ट्रेडिंग के बारे में अधिक जानें:

Click here to get this post in PDF